मंजिल भी तुम हो, तलाश भी तुम हो, 🙍

उम्मीद भी तुम हो, आस भी तुम हो, 🙍

कैसे कहूँ इश्क भी तुम हो और जूनूँ 💏भी तुम ही हो,

अब जब अहसास 💏 तुम हो तो जिंदगी भी तुम ही हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *