मेरा यूँ टुटना और टूटकर बिखर जाना कोई इत्फाक नहीं..

किसी ने बहुत कोशिश की है मुझे इस हाल तक पहुँचाने में…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *